American Share Market News in Hindi

अमेरिका के लिए आई बुरी खबर से सहमा भारतीय बाजार, Share Market

Sharing is caring!

चीन के बाद अब अमेरिका की हालत खराब होने वाली है दरअसल रेटिंग एजेंसियों की ओर से अमेरिका के लिए बढ़ी बुरी खबर आ रही है इसका सीधा असर अंतरराष्ट्रीय Share Market पर देखने को मिला तो वहीं भारतीय शेयर बाजार में जबरदस्त गिरावट भी आई है 

सुस्ती से जूझ रहे यूएस को एक और तगड़ा झका लगा है, रेटिंग एजेंसी फिच ने इसकी रेटिंग को AAA से घटाकर AA+ कर दिया है. 2011 के बाद 12 साल में पहली बार ऐसा हुआ है जब यूएस की रेटिंग घटाई गई है, इसका बड़ा असर Stock Market पर देखने को मिल सकता है, देश की कमजोर होती आर्थिक स्थिति और बढ़ते कर्ज के कारण इसकी रेटिंग में गिरावट आई है. इससे पहले एसएंडपी ग्लोबल ने देश की रेटिंग घटाई थी. फिच का कहना है कि पिछले 2 दशक में देश कई बार कमजोर गवर्नेंस के चलते आर्थिक संकट से घिरा है.

फिच ने साफ तौर पर कहा है कि अमेरिका ने अगर कोई बड़े कदम नहीं उठाए तो यह रेटिंग और नीचे तक गिर सकती है, देश के मैक्रोइकोनॉमिक पॉलिसी और खर्च से जुड़े मुद्दों को लेकर आ रही कठिनाइयों को जल्द सुलझाना होगा. इसके अलावा सितंबर में फेडरल रिजर्व एक बार फिर ब्याज दरों में बढ़ोतरी कर सकता है. अगर ऐसा होता है तो यूएस की रेटिंग पर और दबाव बढ़ सकता है. हालांकि, एक दूसरी रेटिंग और इन्वेस्टमेंट कंपनी मूडीज ने अब भी यूएस को अपनी सर्वोच्च AAA रेटिंग दी हुई है.

भारत  की उभरती हुई इकोनामी

जर्मनी  चीन और यूरोप के कई देश में मंदी का कहर जारी है लेकिन ऐसे में भारत की रेटिंग एजेंसियों ने काफी अच्छी रेटिंग दी है दरअसल भारत सरकार की योजनाएं जो भारतीय कारोबारियों को आगे बढ़ने में मदद कर रही है उसका बड़ा असर भारतीय इकोनामी पर पड़ा है मार्केट के जानकारों का मानना है कि आने वाले कुछ सालों में भारत की इकोनामी यूरोप के कई देशों को पीछे छोड़ सकती है 

वित्तीय सेहत के गिरने का संकेत (USA Economy)

फिच ने कहा है कि रेटिंग में कटौती अगले 3 साल में यूएस की आर्थिक हालत और बिगड़ने का संकेत है. एजेंसी का कहना है कि देश ने नए खर्च बढ़ा दिए हैं और टैक्स में कटौती कर दी है, इसकी वजह से बजट घाटा बढ़ गया है. 

भारतीय बाजार भी सहमा

अमेरिकी अर्थव्यवस्था का बड़ा असर दुनियाभर के शेयर बाजार पर देखने को मिलता है क्योंकि डॉलर पर कई देश निर्भर करते हैं  इसीलिए अमेरिकी अर्थव्यवस्था के लिए बजी इस खतरे की घंटी का असर भारतीय शेयर बाजार पर देखने को मिल रहा है. 

 भारतीय शेयर बाजार में गिरावट देखने को मिली तो वही एशिया और यूरोप के शेयर बाजारों में भी गिरावट का दौर जारी रहा

Sharing is caring!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *