Dividend Income is Taxable or not – Dividend Income पर Tax लगता है या नहीं ? 

Dividend Income पर Tax लगता है या नहीं ? 

Dividend Income is Taxable or not ? – शेयर बाजार में निवेश करने से पहले ब्रोकरेज और टैक्स के बारे में जानकारी होना बहुत ही जरूरी है वरना निवेश करना भारी पड़ सकता है ऐसे में कई लोगों के मन में सवाल होता है कि डिविडेंड के ऊपर टैक्स लगता है या नहीं तो अगर आपके पास भी डिविडेंड वाले शेयर है तो इसके बारे में जानकारी होना आपके लिए बहुत ही जरूरी है

बाजार में पिछले कुछ दिनों से लगातार कंपनियों के नतीजे आ रहे हैं और कंपनियां डिविडेंड भी दे रही है लेकिन बड़ा सवाल तो यह आता है कि जो डिविडेंड कंपनी की तरफ से शेयरधारकों को दिया जा रहा है वह इनकम टैक्स के दायरे में आता है या नहीं इसके बारे में जानकारी होना बहुत ही जरूरी है

सबसे पहले तो यह समझते हैं कि डिविडेंड क्या होता है?

डिविडेंड क्या होता है – What is Dividend ?

डिविडेंड एक तरह की आमदनी है जो किसी कंपनी या स्टॉक कंपनी से आपको मिलती है। जब एक कंपनी अच्छा काम करती है और पैसा कमाती है, तो उसे उसके स्टॉकहोल्डर्स के बीच बांटने का एक हिस्सा मिलता है, जिसे हम डिविडेंड कहते हैं। यह एक तरह की मिठास होती है क्योंकि यह आपको कंपनी के सफलता का हिस्सा बनाता है।

डिविडेंड का मात्रा और सांझा करने का निर्धारण कंपनी की लाभांश, स्थिति और उद्देश्यों पर निर्भर करता है। डिविडेंड का वितरण नियमित रूप से हो सकता है, सालाना आधार पर, त्रैमासिक या यह किसी खास घड़ी पर आधारित हो सकता है। इसके साथ ही, कंपनी निर्णय कर सकती है कि क्या वह डिविडेंड निर्धारित करेगी या फिर उसे आवश्यकता और विचारणा के आधार पर निर्धारित करेगी।

Dividend Income पर Tax लगता है या नहीं ? – Dividend Income is Taxable or not

Dividend Income पर Tax लगता है या नहीं ? देखिए, डिविडेंड से होने वाली कमाई (Income) पर टैक्स लगेगा या नहीं, यह इस बात पर निर्भर करता है कि आपको कितना डिविडेंड मिला है. मान लीजिए की अगर आपको मिलने वाला डिविडेंड साल भर की सीमा में 5000 रुपये से कम है या अनुमान है कि कम ही रहेगा तो आपके डिविडेंड पर टैक्स नहीं काटा जाएगा. यानी आसान भाषा में डिविडेंड से हुई 5000 रुपये तक की कमाई पर कोई टैक्स नहीं लगता है. वहीं अगर डिविडेंड इससे अधिक है तो आपको टैक्स चुकाना होगा.

Dividend Income is Taxable or not

कितना टैक्स लगता है डिविडेंड पर? (Tax on Dividend Income)

अगर आपको मिलने वाला डिविडेंड 5000 रुपये से ज्यादा है, तो आपके द्वारा उस पर टीडीएस काटा जाता है। इनकम टैक्स के अधिनियम के अनुसार, जब डिविडेंड 5000 रुपये से अधिक होता है, तो उस पर 10 फीसदी का टीडीएस काटा जाता है। अगर आपका पैन कार्ड नहीं है, तो उस स्थिति में 20 फीसदी का टीडीएस काटा जाता है। यदि आप सीनियर सिटीजन हैं, तो आप फार्म 15H देकर टीडीएस कटौती से बच सकते हैं। जिनकी कुल कमाई 2.5 लाख रुपये से कम है, वे फार्म 15G देकर टीडीएस कटौती से

Explore More :- Explain the Mystery of Multibagger Stocks: A Guide for Investors

Dividend Income is Taxable or not

विदेशी कंपनी से डिविडेंड पर टैक्स कैसे लगता है? 

विदेशी कंपनी से डिविडेंड पर टैक्स के अलग नियम हैं. रेसिडेंट और नॉन रेसिडेंट के लिए टैक्स के अलग-अलग नियम होते हैं. रेसिडेंट भारतीय है तो विदेशी कंपनी से डिविडेंड पर टैक्स लगेगा. वहीं नॉन रेसिडेंट भारतीय को टैक्स नहीं देना होगा. 

हर कंपनी क्यों नहीं देती डिविडेंड? Why all Companies not giving Dividend

हर कंपनी डिविडेंड नहीं देती क्योंकि डिविडेंड कंपनी के लाभ का एक हिस्सा होता है और यह कंपनी के लिए बड़ा निर्णय होता है। कंपनी ने डिविडेंड देने का एक स्थिर पैटर्न नहीं बनाया होता है क्योंकि इसमें कई कारण हो सकते हैं। पहले, यदि कंपनी को आने वाले समय में अधिक निवेश की आवश्यकता होती है, तो वह डिविडेंड को रिटेन रिजर्व में रख सकती है ताकि वह इसे बाद में उपयोग कर सके। दूसरे, यदि कंपनी का लाभांश कम हो और वह अपने कारोबार को बढ़ाने के लिए डिविडेंड नहीं दे सकती, तो वह भी डिविडेंड नहीं देती। इसलिए, हर कंपनी अपने वित्तीय स्थिति और लक्ष्यों के आधार पर डिविडेंड देने का निर्णय करती है।

डिविडेंड कैसे तय होता है How Dividend is Calculated

डिविडेंड का मूल्य कंपनी के निर्णय पर निर्भर करता है कि वह कितना देना चाहती है। यह कंपनी के बोर्ड और स्टॉकहोल्डर्स के मिलकर तय होता है कि कितना डिविडेंड दिया जाएगा। इसके बाद, यह राशि सभी स्टॉकहोल्डर्स के बीच बाँटी जाती है, जिससे वे अपने शेयर्स के लिए पैसा प्राप्त करते हैं।

डिविडेंड क्यों दिया जाता है Why Dividend is given to Investor

डिविडेंड कंपनी द्वारा उसके स्टॉकहोल्डर्स को दिया जाता है ताकि वे उसके सफलता का हिस्सा बन सकें। जब एक कंपनी अच्छा काम करती है और पैसा कमाती है, तो उसे उसके सभी स्टॉकहोल्डर्स के बीच बाँटने का एक हिस्सा बनाकर डिविडेंड कहा जाता है। यह स्टॉकहोल्डर्स को उस कंपनी की सफलता का मजा लेने का एक तरीका होता है और उन्हें एक छोटी सी आय मिलती है।

डिविडेंड को मिलने का मुख्य कारण है कि स्टॉकहोल्डर्स ने कंपनी में पैसा लगाया है और वे उसके सफलता के हिस्सेदार बनते हैं। यह एक तरह की इनाम है जो सफल कंपनी के सफल स्टॉकहोल्डर्स को मिलता है और उन्हें उसके तरक्की और विकास में हिस्सा लेने का अवसर देता है।

डिविडेंड यील्ड क्या होता है (What is Dividend Yield)

डिविडेंड यील्ड एक आर्थिक शब्द है जो बताता है कि किसी स्टॉक का डिविडेंड कितना हो सकता है और यह स्टॉक के मूल्य के साथ कैसे जुड़ा होता है।

यह साझेदारों को बताता है कि वे कितना डिविडेंड प्राप्त कर सकते हैं जो कि उनके निवेश की मूल्य के अनुसार होता है। डिविडेंड यील्ड को प्रतिशत में नकारात्मक संख्या के रूप में प्रकट किया जाता है, जिससे साझेदारों को यह समझने में मदद होती है कि उनका निवेश कितना लाभकारी हो सकता है।

डिविडेंड यील्ड को निकालने के लिए साधारिता से साझेदारों को डिविडेंड की राशि को स्टॉक के मूल्य से भाग करना होता है और इसे प्रतिशत में गुना करना होता है।

यह एक महत्वपूर्ण मापक है जो निवेशकों को बताता है कि उनका निवेश स्टॉक के मूल्य के मुकाबले कितना लाभ दे सकता है और डिविडेंड की आधारिक दर क्या हो सकती है।

शेयर मार्केट से बनेगे करोड़पति बस मत करना ये 10 गलतियों – Stock Market Tips in Hindi Stock Market Tips: शेयर मार्केट से करोड़पति कैसे बनें? Share Market Tips in Hindi Chhath Puja 2023 छठ पूजा की पौराणिक कथा, श्री राम और द्रौपदी ने रखा था व्रत Chhath Puja 2023 : छठ पूजा का शुभ मुहूर्त, 4 दिवसीय छठ पर्व, खरना, डूबते सूर्य को अर्घ्‍य, उगते सूर्य को अर्घ्‍य, छठ पूजा का महत्व ट्रेन हादसा: न्यू दिल्ली दरभंगा में लगी आग, धुआं धुआं हुई बोगियां