Voter ID card Kaise Banaye

Voter ID Card कैसे बनवाएं – देशभर में चुनाव का माहौल, घर बैठे बनाए Voter ID

Voter ID Card कैसे बनवाएं ? – त्योहारी सीजन के साथ अब चुनाव का माहौल भी गर्म होते हुए नजर आ रहा है देशभर के कई बड़े राज्यों में चुनाव होने वाले हैं तो वहीं अगले साल से लोकसभा के चुनाव होंगे, ऐसे में अगर आपके पास वोटर आईडी कार्ड नहीं है तो आप अपना मूल्यवान वोट नहीं दे पाओगे,

आज हम आपको बताने वाले की किस तरीके से आप घर बैठे Voter ID Card बनवा सकते हैं लेकिन इससे पहले आपसे निवेदन है कि ऐसी ही काम की जानकारी को प्राप्त करने के लिए हमारे व्हाट्सएप चैनल से तुरंत ही जुड़ जाए

पहले के समय में वोटर आईडी बनाने की प्रक्रिया काफी बड़ी होती थी लेकिन अब भारत डिजिटल होते जा रहा है इस लिए आप घर बैठे आसानी से Voter ID Card बनवा सकते हो अगर आपकी उम्र 18 साल हो चुकी है तो आपको वोटर आईडी कार्ड बनवा लेना चाहिए ताकि आप वोट दे सके

Voter ID कैसे बनवाएं ? How to Apply for Voter ID Card

Election in India : वोटर कार्ड के जरिए आप आसानी से वोट डाल सकते हैं. इसके अलावा आप इसका पहचान पत्र के रूप में भी इस्तेमाल कर सकते हैं. चुनाव आयोग (Election Commission) ने 5 राज्यों में इलेक्शन का ऐलान कर दिया है. तो आप जल्द ही अपना वोटर कार्ड बनवा लें.

सबसे पहले, आपको voterportal.eci.gov.in पर जाना होगा। वहां, आपको नए उपयोगकर्ता को चयन करके लॉगिन करना होगा। इसके बाद, आपको एक फॉर्म भरना होगा। इसके अलावा, आपको फॉर्म और फ़ोटो में पूछे गए सभी संबंधित दस्तावेज़ अपलोड करना होगा। सभी भरे गए विवरणों की सावधानी से जाँच करनी चाहिए, और सभी विवरणों की क्रॉस-चेक करने के बाद आपको सबमिट पर क्लिक करना होगा।

वोटर आईडी के लिए कौन से Documents चाहिए ?

यदि आप भी वोटर आईडी कार्ड बनवा रहे हैं, तो आपको कई प्रकार के प्रमाणपत्र प्रदान करने होंगे। आपको आयु साबित करने के लिए जन्म प्रमाणपत्र, आधार कार्ड, पैन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस (DL) या हाई स्कूल की मार्कशीट, पासपोर्ट की कॉपी अपलोड कर सकते हैं।

वोटर आईडी के लिए एड्रेस प्रूफ ?

इसके अलावा, पते का प्रमाणपत्र भी आवश्यक है। पते को साबित करने के लिए आप ड्राइविंग लाइसेंस, बैंक पासबुक, पोस्ट ऑफिस पासबुक, पासपोर्ट, राशन कार्ड, किराया एग्रीमेंट, बिजली बिल, पानी बिल का इस्तेमाल कर सकते हैं।

वोटर ID के 5 बड़े फ़ायदे

  1. पहचान और सुरक्षा: वोटर ID, चुनाव में भाग लेने वाले नागरिकों की पहचान के लिए एक महत्वपूर्ण और सुरक्षित माध्यम है। यह सुनिश्चित करता है कि वोट केवल एक व्यक्ति द्वारा ही किया जा सकता है, जिससे चुनाव प्रक्रिया को विश्वसनीय बनाए रखा जा सकता है।
  2. नागरिक सहमति का प्रमाण: वोटर ID नागरिकों के सहमति और सहभागिता का प्रमाण है। यह दिखाता है कि व्यक्ति ने चुनाव प्रक्रिया में भाग लेने का इरादा किया है और उनका योगदान सामाजिक प्रक्रिया में है।
  3. डेमोक्रेसी में बदलाव का एक साधन: वोटर ID एक सशक्त और संप्रभु नागरिक बनाता है जो अपने देश में नेतृत्व और निर्णय में सहभागी बनता है। यह डेमोक्रेसी में बदलाव को प्रोत्साहित करने का माध्यम है जो एक स्वस्थ और जनहित में लोकतंत्र को बनाए रखने में सहायक है।
  4. अधिकारिक सुविधाएं: वोटर ID होना नागरिकों को सरकारी योजनाओं और सुविधाओं का लाभ उठाने में मदद करता है। इससे व्यक्ति अपनी आवश्यकताओं के लिए विभिन्न सरकारी योजनाओं का लाभ उठा सकता है और सही रूप से पहचान बनाए रख सकता है।
  5. चुनाव प्रक्रिया में सुधार: वोटर ID की मौजूदगी से चुनाव प्रक्रिया में सुधार होता है और चुनाव आयोग को वोटर्स की सूची में अद्यतित रहने में मदद होती है। यह व्यवस्था को अधिक प्रशासनिक और सुव्यवस्थित बनाए रखता है जिससे चुनाव प्रक्रिया में पारदर्शिता और न्याय हो सकता है।

Sharing is caring!